भा रहा युवाओं को ‘विकेश उनियाल’ का उत्तराखंडी गीतों में लगाया रैप का तड़का।

By | February 16th, 2018|Blog|

लम्बे समय से उत्तराखंड का संगीत संस्कृति व परंपराओं से जुड़ा रहा है, जिनके माध्यम से उत्तराखंड की सम्पूर्ण झलक देखने को मिलती है। परंतु आज का दौर बदलाव चाहता है, आज की युवा पीढी पाश्चात संस्कृति को अपनाते जा रही है वही उनकी संगीत प्रियता भी बदल चुकी है। युवा पीढ़ी को अपनी संस्कृति [...]

पलायन और जंगली जानवरो के बीच फँसे है केवल: गरीब किसान

By | February 12th, 2018|Blog|

यदि कभी ऐसा हो की हमारी महीने भर की जमा पूँजी कही खो जाए तो क्या करेंगे आप ?? जी हाँ कुछ इसी प्रकार की घटना पिछले कई वर्षों से उत्तराखंड के किसानो के साथ होती आ रही है। उत्तराखंड के गाँव गाँव में जंगली जानवरो का आतंक लगातार बढ़ता जा रहा है, जो कि [...]

जानिए क्यों हो ‘ ग़ैरसैंण ‘ उत्तराखंड की राजधानी 

By | February 1st, 2018|Blog|

कई वर्षों पूर्व उत्तराखंड के कई क्रांतिकारियो द्वारा भारत सरकार के समक्ष एक माँग रखी गई। यह माँग थी एक अलग राज्य की, यह लड़ाई थी अपने अधिकारो की और लम्बे संघर्षो के बाद वर्ष ९ नवम्बर २००० को भाजपा सरकार द्वारा उत्तरप्रदेश राज्य से उत्तरांचल नाम के रूप में एक राज्य को विभाजित किया [...]

एक सोच पर्यावरण की ओर

By | January 27th, 2018|Blog|

  क्यों ना कुछ क्षणो के लिए अपनी आँखें बंद करके यह अनुभव किया जाए की हमारे जीवन के नए दिन की शुरूवात पक्षियो  की चहचहाट से हो, खिड़की के झरोको से बाहर देखते ही आँखो के समक्ष हरे भरे पेड़ पौधे से भरें पहाड़ नज़र आए ,जहाँ की हवाओ में मिट्टी की शोंधि शोंधि [...]

हास्यकलाकार भगवान चंद जी

By | January 19th, 2018|Blog|

  हर उत्तराखंडी के चेहरे पर मुस्कान हो उत्तराखंडी बोली के साथ (हास्यकलाकार भगवान चंद जी) जहाँ आज के दौर में प्रत्येक व्यक्ति स्वयं को सफल व कामयाब बनाने की दौड़ में व्यस्त है। वही कुछ ऐसे लोग भी है जो अपनी संस्कृति, बोलिभाषा व सभ्यताओं को बचाने में कार्यरत है। वर्ष १९७० को उत्तराखंड के [...]

उत्तरैणी ( मकरसंक्रान्ति) पर्व

By | January 13th, 2018|Blog|

हम उत्तराखंडी इस प्रकार मानते है उत्तरैणी ( मकरसंक्रान्ति) पर्व भारतवर्ष में मकरसंक्रांति के नाम से जाने जानेवाला पर्व , जहाँ हिंदुओ द्वारा नव वर्ष के रूप में मनाया जाता है । वही यह पर्व उत्तराखंड में ' उत्तरैणी ' के नाम से जाना जाता है। हिंदू पंचाग व ज्योतिषी के अनुसार इस दिन भगवान सूर्य [...]

अध्यात्म , मोक्ष व योग का प्रवेश द्वार है उत्तराखंड का यह स्थान

By | January 5th, 2018|Blog|

  हिंदू शास्त्रों के अनुसार जहाँ ' अध्यात्म ' मनुष्य को जीवन की सम्पूर्ण संरचना दर्शाता है तो वहीं जीवन के चक्रव्यू के अंत में ' मोक्ष ' को प्राप्त कर पाना जीवन की अंतिम इच्छाओं में से एक है और जीवन और मोक्ष के बीच संतुलन बनाए रखने वाला नियम है ' योग ' [...]

उत्तराखंड सरकार की पलायन रोकने की नई नीति : ग़रीबों को रूलाओ

By | December 30th, 2017|Blog|

  उत्तराखंड राज्य ' देवभूमि के नाम से पहचाने जाने वाला राज्य आज सब से अधिक पलायन की मार झेल रहे राज्यों में से एक बन चुका है। आज ना जाने यहाँ कितने पुरख़ो के बसाए गाँव व घर ख़ाली हो चुके है। जहाँ लोग प्राथमिक सुविधा की खोज में बड़ी तेज़ी से अपने घरों [...]

पंचमुखी मंदिर

By | December 29th, 2017|Blog|

  ' पंचमुखी मंदिर ' जहाँ आज भी विराजमान है पंचदेव्यशक्तियां देव्यशक्तियों व देवभूमि के रूप में प्रसिद्द्ध उत्तराखंड के कई प्राचीन मंदिर आज भी अपने पौराणिक व चमत्कारी शक्तियों के लिए जाने जाते है। ऐसा ही एक प्राचीन मंदिर जो की उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले के ' ब्रम्हखाल ' नाम स्थान पर स्तिथ है। इस [...]

पाताल भुवनेश्वर गुफा

By | December 26th, 2017|Blog|

  इसी विशालकाय पहाड़ी में छिपा है कलयुग के अंत का रहस्य। उत्तराखंड का नाम सुनते ही मन में आस्था और प्राकृतिक मनोहक दृश्य सामने आते हैं। राज्य में आस्था और प्रकृति को सामने महसूस करने के लिए देश-विदेश से पर्यटकों का यहां पर आगमन होता है। अपनी मनमोहक छटा और 33 करोड़ देवी-देवताओं के [...]